Bikaji Success Story: 8वीं पास शख्स ने सिर्फ भुजिया बेचकर बनाई 1000 करोड़ रुपये की कंपनी, पढ़ें पूरी कहानी!

Bikaji Success Story: 8वीं पास शख्स ने सिर्फ भुजिया बेचकर बनाई 1000 करोड़ रुपये की कंपनी, पढ़ें पूरी कहानी!

Bikaji Success Story: Bikaji Foods भारत की एक मशहूर नमकीन बनाने वाली कंपनी है, और आजकल यह बहुत ही प्रसिद्ध है। इस कंपनी की मूल खासियत और सफलता के पीछे की कहानी दिलचस्प है। Bikaji Foods का संस्थापक Shivratan Agarwal हैं, जो Ganga Bishan Aggarwal के पोते हैं। Ganga Bishan Aggarwal ही वे हैं जिन्होंने भारत की सबसे बड़ी नमकीन ब्रांड ‘Haldiram’ की शुरुवात की थी। उनके पिता Moolchand भी नमकीन उत्पादन में शामिल थे। Shivratan ने अपने परिवार के परंपरागत व्यापार को छोड़कर ‘Bikaji’ ब्रांड की शुरुआत की।

Bikaji Foods की सफलता “Bikaji Success Story” का रहस्य उनके निष्ठा, उद्यमिता, और व्यापारिक दृष्टिकोण में छिपा है। वे निरंतर उन्नति की दिशा में कदम रखते रहे और नमकीन उत्पादन के क्षेत्र में अपने ब्रांड को मजबूत किया। Bikaji Foods का सफल ब्रांड बनने का एक और कारण उनकी विशेषज्ञता और आदर्श गुणधर्म है। उन्होंने उत्कृष्ट गुणधर्म और स्वादिष्ट नमकीनों के उत्पादन में निवेश किया, जिसके परिणामस्वरूप उनके उत्पाद बाजार में बढ़ गए।

उनकी कठिन मेहनत, व्यावसायिक ज्ञान, और व्यवसाय के प्रति पूर्ण समर्पण ने उन्हें इस सफलता तक पहुंचाया। वे अपने व्यवसाय में नवाचार और उत्कृष्टता के साथ काम करते रहे हैं और बाजार में एक अद्वितीय स्थान बना लिया हैं। Bikaji Foods की सफलता कहानी हमें यह सिखाती है कि अगर किसी को अपने लक्ष्यों की दिशा में उन्नति चाहिए, तो उन्हें मेहनत, समर्पण, और निष्ठा से काम करना होगा। शिवरतन अगरवाल की तरह अपने लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए अथक प्रयास करने वाले व्यक्ति हमेशा सफल होते हैं।

Bikaji Success Story Overview

Article Title Bikaji Success Story
Startup Name Bikaji Foods
Founder Shivratan Aggarwal
Homeplace Udaipur, Rajasthan, India
Bikaji Revenue (FY 2022) ₹1600 Crore
Official Website https://bikaji.com/

इस तरह हुई Bikaji Foods की शुरुवात

“Bikaji Success Story” बिकाजी फूड्स एक ऐसी कंपनी है जिसने नमकीनों और स्नैक्स के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई है, और इसका श्रेय उनके संस्थापक और मालिक श्री शिवरतन अग्रवाल को जाता है। श्री शिवरतन अग्रवाल के पिता और दादा जी ने पहले ‘हलीद्राम’ नामक कंपनी के तहत नमकीन बनाने का व्यापार किया था। शिवरतन ने बचपन से ही अपने पिता और दादा को नमकीन और स्नैक्स व्यापार में काम करते देखा था, और उनका इस क्षेत्र में दिलचस्पी बचपन से ही बन गई थी। इस दिलचस्पी के साथ ही, उन्होंने अपनी पढ़ाई को छोड़कर अपने परिवार के साथ ‘हलीद्राम’ में काम करना शुरू किया।

‘Halidram’ कंपनी की शुरुवात के समय, उन्होंने बहुत जल्दी में सफलता “Bikaji Success Story” प्राप्त की, और इसके परिणामस्वरूप परिवार में विभिन्न चीजों के लिए झगड़े आरंभ हो गए। इससे प्रेरित होकर शिवरतन ने खुद के व्यवसाय की ओर कदम बढ़ाया। 1993 में, शिवरतन ने ‘बिकाजी फूड्स’ कंपनी की स्थापना की। इसके लिए, वह पहले विदेश गए और वहां से नमकीनों और स्नैक्स के बनाने की कला सीखी, और विभिन्न प्रकार की मशीनों की जानकारी प्राप्त की।

ये भी पढ़े: Small Business Ideas: साल 2024 में 50 हजार रुपये से कम लागत में शुरू कर सकते हैं ये 5 छोटे बिजनेस, महीने भर में होगी मोटी कमाई

बनाने शुरू किए अलग-अलग Snacks

बिकाजी फूड्स की शुरुवात “Bikaji Success Story” करने के बाद, शिवरतन ने कठिन मेहनत और संघर्ष के साथ अपनी कंपनी को विकसित करने का संकल्प बनाया। वह इस कंपनी को आगे बढ़ाने के लिए विभिन्न प्रकार के स्नैक्स बनाने में लग गए। विशेष रूप से, बिकाजी फूड्स ने नमकीन और विविध प्रकार की मिठाई स्नैक्स का उत्पादन शुरू किया।

इस कंपनी ने अपने व्यापार के पहले 10 वर्षों के अंदर ही अपने स्नैक्स को UAE और ऑस्ट्रेलिया में भी निर्यात करना आरंभ किया, जिसके परिणामस्वरूप उनकी व्यापारिक वृद्धि तेजी से आरंभ हो गई। इस उपयासी कठिनाइयों और संघर्ष के माध्यम से, बिकाजी फूड्स ने विश्वास के साथ अपने उत्पादों की गुणवत्ता और विविधता में सुधार किया, जो आज एक प्रमुख स्नैक्स निर्माता कंपनी के रूप में प्रसिद्ध है।

ये भी पढ़े:  Sanchar Saathi Portal: चोरी या खोया हुआ मोबाइल फोन ढूंढे संचार साथी पोर्टल से, पूरी जानकारी यहाँ देखे

आज बन चुकी हैं 1000 करोड़ की कंपनी

Bikaji Success Story” आज, बीकाजी कंपनी एक 1000 करोड़ से अधिक की मूल्यांकन वाली कंपनी बन चुकी है, जो 1993 में शुरू हुई थी। आजकल, बीकाजी विभिन्न प्रकार की नमकीन बनाती है और लगभग 200 टन से ज्यादा स्नैक्स रोज़ाना उत्पन्न करती है। इसके अलावा, बीकाजी फ़ूड का व्यापार अब 40 देशों में फैला हुआ है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, FY22 में बीकाजी कंपनी ने लगभग 1600 करोड़ रुपए का राजस्व उपलब्ध किया और कंपनी की मूल्यांकन 1 बिलियन डॉलर से अधिक है। आज, बीकाजी फ़ूड कंपनी इस महत्वपूर्ण सफलता को प्राप्त करने में सक्षम है, क्योंकि शिवरतन ने कभी हार नहीं मानी और लगातार आगे बढ़ते रहे। उनकी संघर्षशीलता और मेहनत ने इस कंपनी को एक विश्वस्तरीय ब्रांड बनाया है, और यह आगे भी अधिक सफलता प्राप्त करने के लिए तैयार है।

ये भी पढ़े:-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *